दर्शकों पर छाप नहीं छोड़ पाई रिंपी प्रिंस की ‘मैं तेरी तू मेरा’

0
फिल्म का एक दृश्य

मैं तेरी तू मेरा
कास्ट : रोशन प्रिंस, मनकीरत औलख, जैज़ सोढी, यामिनी मल्होत्रा, हरिंदर भुल्लर, अनिता देवगन, करमजीत अनमोल
डायरेक्टर : क्षितिज चौधरी

हाल ही में रिलीज हुई रिंपी प्रिंस की फिल्म “मैं तेरी तू मेरा’ को मिली जुली प्रतिक्रिया मिली है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर असरदार साबित नहीं हुई है। फिल्म ने यूएसए में तीन दिनों में 3.31 लाख, कैनेडा में 12.21 लाख और न्यूज़ीलैंड में केवल 2.37 लाख का कारोबार किया। दूसरी ओर एमी विर्क स्टारर फिल्म “बम्बूकाट’ अभी भी सिनेमा हाल्स में लगी हुई है।
कहानी :

main teri tu mera
main teri tu mera
अमरू (रोशन प्रिंस) एक बेपरवाह युवा है, जो एक गांव में परिवार के साथ रहता है। वे हर बार कई लड़कियों द्वारा किसी न किसी कारण से रिजेक्ट किया जाता है। उसका दोस्त कीरत (मनकीरत औलख) है, जो चेंज करने के इरादे से उसे चंडीगढ़ ले जाता है। वहां पर अमरू एक लड़की सिमरन (जैज़ सोढी) की पिक्चर देखता है और उसके प्यार में पड़ जाता है। वे उसके सपनों में आने लगती है। एक दिन सच में वो उसे दिखाई दे जाती है और दोनों एक दूसरे के प्रेम में पड़ जाते हैं। उधर कीरत भी सिमरन के ही प्यार में होता है। जब अमरू को इस बात का पता चलता है कि सिमरन और कीरत एक दूसरे को प्यार करते हैं, तो वे अपना प्यार कुर्बान करने की ठानकर कमो (यामिनी मल्होत्रा) से शादी करने का निर्णय ले लेता है। क्या वे कमो से शादी कर पाता है? ये सब देखने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।
फिल्म की कहानी पाली भूपिंदर सिंह ने लिखी है। ये एक सिंपल सी लव स्टोरी है, जो 133 मिनट में सिमटी हुई है। कहानी में बहुत कुछ बेवजह जोड़ा गया लगता है। फिल्म की शुरुआत से ही पता चलने लगता है कि आगे क्या होने वाला है। ऐसे में फिल्म मनोरंजन करने के बजाय बोर करने लगती है। पहले 25-30 मिनट तो कैरेक्टर इंट्राेड्यूस करने मे लग जाते हैं। इसी दौरान दर्शक फिल्म मे ंआगे क्या होने वाला है, इस बात का अंदाज़ा लगा लेता है। स्टोरी जैसी भी थी, डायरेक्ट इसमें बहुत कुछ कर सकता था। लेकिन क्षितिज चोधरी ऐसा नहीं कर पाए।
परफोर्मेंस : रोशन प्रिंस इस फिल्म के माध्यम से लगभग दो साल बाद बड़े पर्दे पर नज़र आए हैं। उनकी एक्टिंग में कुछ सुधार हुआ दिखाई दिया है। मनकीरत औलख ने डेब्यू किया है। लेकिन पूरी फिल्म उन्होंने एक ही तरह के एक्सप्रेशन में कर दी है। उन्हें अपने काम पर और मेहनत करनी चाहिए थी। जैज़ सोढी और यामिनी मल्होत्रा ने भी इस फिल्म से डेब्यू किया है। दोनों की एक्टिंग ठीक-ठीक रही। हरिंदर भुल्लर, अनिता देवगन, करमजीत अनमोल, मन्नत सिंह व अन्य ने अच्छा काम किया है।
फिल्म का म्यूजिक भी कोई खास माल नहीं कर पाया। समूचे रूप में कहा जा सकता है कि इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है, जो दर्शकों ने पहले न देखा हो। फिल्म का पहला हिस्सा देखने पर तो लगता है कि आगे कुछ होगा। लेकिन दूसरा हिस्सा ढीला पड़ने लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here