पंजाबियों की गूंज विदेश तक है

0
Gauhar Khan

Gauahar-Khan

Gauhar Khan
Gauhar Khan

*जुंबिश*

बॉलीवुड की रॉकेट सिंह, इश्क़जादे जैसी फिल्में कर चुकीं एक्टर गौहर ख़ान की
पहली पंजाबी फिल्म ‘ओ यारा एेवें एेवें लुट गया’ रिलीज़ हो चुकी है। इस फिल्म
के बारे में गौहर ख़ान से हुई बातचीत*…*

Gauahar-Khan

आपने यह पजंाबी फिल्म क्यों की?

फिल्म निर्माता मुकेश शर्मा ने मुझे इस फिल्म की स्क्रिप्ट सुनाई तो मैंने लीड
एक्टर के बारे में पूछे बगैर ही इसके लिए हां कर दी। क्योंकि मेरे लिए एक्टर
से ज़्यादा स्क्रिप्ट मायने रखती है, उसके बाद मैं अन्य किरदारों और डायरेक्टर
के बारे में पूछती हूं।

यह आपकी पहली पंजाबी फिल्म है। शूटिंग के दौरान कैसा एक्सपीरियंस रहा?

फिल्म की शूटिंग के दौरान सबकुछ अच्छा रहा। फिल्म में कैटी(बिल्ली) एक्सपीरियंस
सबसे हटकर था। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे इस तरह का किरदार भी निभाना
पड़ेगा। फिल्म में मैं हीरो के सामने गुंजन बनकर आती थी और अचानक बिल्ली बनकर
बात करने लग जाती थी। फिल्म में मेरे किरदार ने मुझसे कई स्टूपिड चीजें़
करवाईं हंै।

आप जब पंजाबी इंडस्ट्री में आईं तो लोगों ने एतराज़ किया। इस पर आप क्या कहना
चाहती हैं?

कई लोगों ने मुझसे भी यह सवाल किया था कि अभी पंजाबी इंडस्ट्री का समय अच्छा
नहीं। ऐसे में आप इसमें क्यों आईं? लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि लोग अभी भी
पंजाबी सिनेमा का दायरा सीमित मानते हैं, पर मेरे लिए यह पैमाना फिक्स नहीं
है। एक्टर हूं और मेरा काम है एक्टिंग करना। मैंने भाषा को कभी रुकावट नहीं
बनने दिया। मैं हर एक लैंग्वेज में काम कर सकती हूं। मेरे लिए हमेशा एक्टर का
काम बोलता है, चाहे वो किसी भी इंडस्ट्री में काम करे। पंजाबी लोगों को फख़्र
होना चाहिए कि दूसरी इंडस्ट्री के लोग यहां आकर काम करते है।

आपको नहीं लगता कि पॉलीवुड में काम करके आप बॉलीवुड से दूर हो गई हैं?

मुझे नहीं लगता। रॉकेट सिंह के बाद दो साल के लिए मैं मुंबई छोड़कर गुड़गांव
शिफ्ट हो गई थी। गुड़गांव रहकर किंग्डम ऑफ ड्रीम्स के लिए लाइव शो किए और साथ
में हिंदी फिल्म भी की। तब भी इंडस्ट्री से दूर नहीं हुई। अब तो मैंने पहली
पंजाबी फिल्म की है, तो कैसे दूर हो सकती हूं। जब दिलजीत हिंदी फिल्म कर सकते
है तो मैं पंजाबी क्यों नहीं।

वैसे पॉलीवुड के बारे में आपके क्या विचार हैं?

पंजाबी फिल्मों को कम नहीं आंकना चाहिए। पंजाबियों की गूंज तो विदेश तक है। यह
फिल्म करने के बाद मुझे यूएस के रेडियो स्टेशन से इंटरव्यू के लिए फोन आए, लेकिन
हिंदी फिल्म करने के बाद कभी ऐसा नहीं हुआ।

सुना है आप हर काम अपनी बहन निगार से पूछकर करती हैं? इस फिल्म पर उनका क्या
रिएक्शन था?

नहीं-नहीं। मैं पूछकर नहीं करती, मगर वाे हमेशा मेरे साथ होती है। मेरे हर काम
की जानकारी उसे रहती है। निगार ने मुंबई में इस फिल्म का ट्रायल शो देखा था।
फिल्म ख़त्म होते ही उसने चिल्लाकर बोला, फिल्म सुपर हिट है बॉस… गुड
जॉब… प्राउड
ऑफ यू आैर मेरे गले से लग गई। निगार मेरी बहुत बड़ी क्रिटिक है। अगर उसने कहा
कि पिक्चर हिट है तो ज़रूर हिट होगी। उसका चीजें़ देखने का नज़रिया अलग है। अगर
उसे कोई चीज़ पसंद नहीं आती तो वह सीधे मुंह पर बोल देती है।

क्या दोनों बहनों को हम एक साथ पंजाबी इंडस्ट्री में देख सकते है?

सच कहूं तो मुझे नहीं पता के निगार के क्या प्लेनस है, लेकिन इतना ज़रूर है कि
उसे लिमिटेड स्पेस में रहना पसंद है। वह टीवी में शो करके ख़ुश है। वो बहुत
जल्द अपनी ज़िंदगी में नया स्टैप लेने वाली है।

आप कैसी फिल्में करना चाहती हैं?

मैं हर तरह की फिल्में करना चाहूंगी। मैंने बॉलीवुड में ड्रामा, थ्रिलर बेस्ड
और अब पंजाबी में रोम-कोम फिल्म की है। मुझे सबसे ज़्यादा मज़ा यह पंजाबी फिल्म
करने में आया है क्योंकि इसमें कैरेक्टर बहुत इंट्रस्टिंग था। मैंने अभी तक
कोई एक्शन फिल्म नहीं की है, तो मैं चाहती हूं कि एक्शन फिल्म करूं।

फिल्मों में किस तरह का एक्शन करना चाहेंगी?

खतरों के खिलाड़ी वाला एक्शन नहीं करना चाहूंगी। मैं 40 फीट ऊपर रहकर पानी में
नहीं कूद पाऊंगी। मुझे सिर्फ एक्शन की एक्टिंग करनी है। क्योंकि एक्शन मैं
खतरों के खिलाड़ी में कर चुकी हूं। मैं लारा क्रोफ्ट, मिस्टर एंड मिसिस समिथ
जैसी फिल्में करना चाहती हूं।

आप रिजनल सिनेमा(मराठी) में कब दिखाई देने वाली है?

उफ्फ! मैं कोशिश करती हूं कि एक टाइम पर एक चीज़ पर या कुछ िगनी-चुनी चीज़ों पर
फोक्स करूं। तो अभी फिलहाल तो मराठी सिनेमा से कोई ऑफर नहीं है और न ही कोई
प्लैन है। साउथ के आॅफर्स आते रहते है। इंडस्ट्री कोई भी हो मुझे तो बस फिल्म
में अच्छा काम करना है। मेरे पास साउथ की फिल्म के कई ऑफर भी हैं।

हॉलीवुड से बॉलीवुड के लोग काफी इंस्पायर रहते है। हमारे यहां हाॅलीवुड जैसी
फिल्में बनती नहीं है। अगर बन जाएं तो चलती नहीं है?

दर्शकों को देखकर फिल्म बनाई जाती है। हमारी यहां की ऑडियंस को रिएलिटी चाहिए
होती है, जो एक एंटरटेनमेंट सोर्स है और बॉलीवुड में रिएलिटी नहीं होती।
पंजाबी आडियंस की अगर हम बात करें ताे वो बहुत इमोशनल और रियल है। आप उन्हें
वही दीजिए। ज़रूरी नहीं है कि फिल्म में सिर्फ कॉमेडी हाे। हमारी फिल्म में भी
इमोशंस, कॉमेडी और रोमांस से लोगों को कैनेक्ट किया गया है।

आने वाले प्रोजेक्ट्स?

एक फिल्म का पोस्ट-प्रोडक्शन का काम चल रहा है। इसके अलावा अभी एक और फिल्म
साइन की है, जिसके बारे में बता नहीं सकती। बस इतना कह सकती हूं कि फिल्म का
पोस्टर जल्द ही रिलीज़ हो जाएगा।

गौहर की जिं़दगी में…

पैसा*: *ज़रूरत

प्यार*: *जिं़दगी

फ्रैंड*: *सपोर्ट

फैमिली*: *सब कुछ

बिलॉन्गिंस*: *भाई-बहन के बच्चे

बगैर रह नहीं सकती *: *लिप बाम के

फेवरेट प्लेस *: *लंदन

फेवरेट कार ब्रांड*: *बीएमडब्ल्यू

हाईलाइट

बॉलीवुड को मैं नहीं छोड़ सकती हूं। यहां मेरा दिल लगता है, यह मेरा काम है और
यही मेरी मेन लैंग्वेज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here