कैरी आन जट्टा 2: ‘कैरी आन जट्‌टा’ का ही रिपीट वर्जन है

0
carry on jatta 2

पहली फिल्म जहां साफ-सुथरी सिचुएशनल कॉमेडी थी, वहीं इस पार्ट में दोहरे अर्थ लिए डायलॉग और नंगापन ठूंस दिया गया है, जो परिवारिक दर्शको को पंसद नहीं आएगा।

इकवाल सिंह चाना

पंजाबी फिल्म ‘कैरी आन जट्‌टा 2’ अपने पहले सीक्वल ‘कैरी आन जट्‌टा’ का ही रिपीट वर्जन है। फिल्म के लेखकों को कोई ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी होगी। बस पहले पार्ट को ही थोड़ा-बहुत तरोड़-मरोड़कर दर्शको के सामने पेश कर दिया है। वही हाल फिल्म के निर्देशक समीप कंग का है। उन्होंने भी कोई ज्यादा मेहनत नहीं की लगती। पहली फिल्म के दृश्यों को दोहराने के अलावा कुछ पुरानी हिंदी फिल्मों के सीन फिट कर दिए गए हैं। carry on jatta 2
पहली फिल्म जहां साफ-सुथरी सिचुएशनल कॉमेडी थी, वहीं इस पार्ट में दोहरे अर्थ लिए डायलॉग और नंगापन भी ठूंस दिया गया है, जो परिवारिक दर्शको को पंसद नहीं आएगा। वैसे फिल्म में इसकी कोई जरूरत नहीं थी। कहानी बताने की तो जरूरत ही नहीं लगती है। बस, समझ लें कि पहली ‘कैरी ऑन जट्‌टा’ की कार्बन कॉपी है। फिल्म में भगड़ा है, शादी है, चुटकुले हैं, टोटके हैं और दोहरे अर्थ वाले डायलाग हैं और कुछ भी नहीं है।

फिल्म को जबर्दस्त ओपनिंग मिली। शायद लोगों को पहली फिल्म जैसी शानदार फिल्म की उम्मीद होगी या फिर स्टारकास्ट बढ़िया लगी होगी।

कलाकारों में गिप्पी गरेवाल और सोनम बाजवा फिल्म के गुड्‌डा-गुड्‌डी भर हैं। जहां तक एक्टिंग का सवाल है, सारा श्रेय फिल्म के कॉमेडियन कलाकारों को जाता है। गुरप्रीत धुग्गी और बीन्नू ढ़िल्लों सारा ध्यान अपनी तरफ खींचकर रखने में कामयाब हुए हैं। उपासना सिंह, जसविंदर भल्ला, करमजीत अनमोल का ट्रैक बस दो अर्थ वाले डायलाग के लिए ही है। करमजीत अनमोल ने फिल्म में भापों की नकल उतारी हैं, जिसमें वह असफल रहा है। बल्कि भापे नराज ही होंगे। बीएन शर्मा और हारबी की जोकरनुमा कॉमेडी है। उनके सीन ऐसे लगते हैं, जैसे किसी पुरानी फिल्म के हों।

फिल्म के निर्माता को बधाई, एक अच्छी फिल्म बनाने के लिए नहीं बल्कि पैसे वसूल करने के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here